अगर आप या आपके परिवार का कोई भी सदस्य Alergi से परेसान है,तो यह जानकारी सिर्फ आपके लिए है |

www.aushadhiauryog.com

जानिए आखिर क्या है एलर्जी :

दोस्तों एलर्जी एक प्रकार से हमारे शरीर की त्वचा की प्रतिक्रिया होती है जो आमतौर पर किसी विशेष भोजन कपड़े गंध तेल या ड्रग्स जैसे पदार्थ से पैदा होती है।

कुछ मामलों को छोड़कर एलर्जी बहुत आम बीमारी है जिसका इलाज संभव है। विशेष रूप से बचपन में बच्चों में एलर्जी की समस्या देखने को मिलती है जो उनके बड़े होने पर स्वता ही समाप्त हो जाती है। 

कुछ ही बच्चों में यह बीमारी लंबे समय तक बनी रहती है। कई बार व्यस्को में भी यह बीमारी जन्म ले लेते हैं और लंबे समय तक बनी रहती है।

आइए जानते हैं एलर्जी कितने प्रकार की होती है :


दोस्तों एलर्जी कई प्रकार की हो सकती हैं जिनमें निम्न प्रकार मुख्य हैं-

  • ड्रग एलर्जी :

ड्रग एलर्जी दवाओं से पैदा होने वाली समस्या है जो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली की असामान्य प्रतिक्रिया अर्थात रिएक्शन से पैदा होती है।

  • फूड एलर्जी :

फूड एलर्जी कुछ विशेष प्रकार के खाद्य पदार्थ जैसे गेहूं सिरका तेल आदि से पैदा हो सकती हैं। इसमें जब कोई व्यक्ति किसी विशेष प्रकार के खाद्य पदार्थ का सेवन करता है तो शरीर द्वारा इसकी तीव्र प्रतिक्रिया दी जाती है।

  • स्किन एलर्जी :

इस प्रकार की एलर्जी में जब कोई व्यक्ति किसी विशेष पदार्थ को छूता है या उसके संपर्क में आता है तो त्वचा में लाल चकत्ते पड़ जाते हैं जिसकी वजह से व्यक्ति को काफी परेशानी का अनुभव होता है साथ ही साथ उसे त्वचा पर जलन व खुजली महसूस हो सकती है।

  • लेटेक्स एलर्जी :

लेटेक्स एलर्जी एक प्रकार के प्राकृतिक रबर लेटेस्ट के प्रोटीन के संपर्क में आने से पैदा होती है।

  • सीजनल एलर्जी अर्थात मौसमी एलर्जी :

सीजनल एलर्जी या मौसमी एलर्जी एक प्राकृतिक एलर्जी है जो आंखों में पानी खुजली छींकें और इससे जुड़े अन्य समस्या पैदा करती है।

आइए अब जानते हैं एलर्जी के लक्षण :


एलर्जी के लक्षण सामान्य और असामान्य प्रकार के हो सकते हैं-

सामान्य लक्षण :

  • छींक आना,
  • नाक बहना या रुकना,
  • आंखों से पानी आना या आंखों में खुजली होना,
  • कान का बंद होना या कान में द्रव भरना,
  • होंठ जीव आंखों या चेहरे पर सूजन आना,
  • पेट दर्द यार बीमार महसूस होना,
  • मतली उल्टी और दस्त लगना,
  • त्वचा रूखी सूखी वा लाल होना।

असामान्य लक्षण :

  • सिर दर्द,
  • सांस लेने में परेशानी,
  • घबराहट,
  • खांसी आदि।

एलर्जी में ध्यान रखने वाली बात :


दोस्तों एलर्जी में विशेष बात यह है कि कुछ विरले मामलों में एलर्जी एक गंभीर एलर्जिक प्रतिक्रिया को जन्म देती है जिसे Anaphylaxis कहा जाता है जो जीवन के लिए काफी खतरनाक साबित होती हैं।

आइए जानते हैं एलर्जी के कारण :


दोस्तों एलर्जी की समस्या व्यक्ति को जन्म से अर्थात वंशानुगत भी मिल सकती है।
दूषित पर्यावरण भी एलर्जी पैदा करने का एक मुख्य कारण है।

कुछ अन्य मामले जैसे मधुमक्खी या किसी अन्य कीड़े द्वारा काटा जाना, कुछ दवाएं जैसे पेनिसिलिन या एस्पिरिन का प्रयोग, धूल मिट्टी के कणों का सांसो द्वारा अंदर चला जाना, परागकण या फफूंदी के संपर्क में आना यह पशुओं के बालों की रूसी आदि भी एलर्जी का कारण बन सकते हैं।

आइए अब जानते हैं एलर्जी के इलाज के बारे में :


एलर्जी का इलाज डॉक्टर एलर्जी के लक्षणों की टेस्ट रिपोर्ट देखकर के शुरू करते हैं। हर अलग-अलग तरह की एलर्जी का इलाज भी अलग-अलग तरीके से किया जाता है।

कुछ सामान्य प्रकार की त्वचा एलर्जी को दूर करने के लिए डॉक्टर नीम की पत्तियों को खाने व नीम के पानी से नहाने की सलाह भी देते हैं।

साथ ही साथ शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को ठीक करने के लिए अश्वगंधा शतावरी मुलेठी जैसी औषधियों का प्रयोग करने की सलाह भी देते हैं।


विशेष सावधानी

एलर्जी का इलाज शुरू करने से पहले किसी अच्छे वैद्य डॉक्टर को जरूर दिखा ले और उनकी देखरेख में ही सभी दवाओं का प्रयोग करें। एलर्जी की दवाई अक्सर लंबे समय तक प्रयोग करनी पड़ती हैं इसलिए एलर्जी से पूरी तरह से मुक्ति पाने के लिए इलाज और दवाओं के कोर्स को पूरा अवश्य करें।
                                            
Disclaimer: इस लेख में दी गयी समस्त जानकारी केवल सूचना के उद्देश्य से है , हम किसी भी तथ्य के पूर्णतः सत्य या मिथ्या होने का दावा नहीं करते दी गयी जानकारी का स्त्रोत विभिन्न पुस्तकेंस्वास्थ्य-सलाहकार व कुछ व्यक्तियों के अनुभव हैं, पाठक कृपया स्व-विवेक से काम लें , धन्यवाद

Post a Comment

और नया पुराने