जानिए अंजीर(Figs) खाने के अद्भुत फायदे ! कब्ज, गैस, एसिडिटी, अनीमिया तथा पाईल्स जैसी अनेकों बिमारियों का काल है: अंजीर


www.aushadhiauryog.com

अंजीर का परिचय-

दोस्तों आज हम बात करेंगे आयुर्वेद में वर्णित एक बहुत ही चमत्कारी फल अंजीर के बारे में। दोस्तों अंजीर को अंग्रेजी भाषा में fig कहा जाता है इसलिए कई लोग इसे गूलर भी समझ बैठते हैं। परंतु ऐसा नहीं है यह गूलर की प्रजाति का ही एक फल होता है।

अंजीर स्वाद में खजूर की तरह मीठा होता है और इसे ताजा या सुखा कर दोनों ही तरह से प्रयोग में लिया जा सकता है। सूखे हुए अंजीर में प्राकृतिक शर्करा अधिक मात्रा में पाई जाती हैं जिसकी वजह से यह हमारे शरीर में कार्बोहाइड्रेट की पूर्ति बड़ी आसानी से कर देता है।

कार्बोहाइड्रेट के अलावा अंजीर में प्रोटीन, आयरन, ओमेगा 3 व ओमेगा 6 फैटी एसिड्स और कई सारे सॉल्युबल फाइबर मौजूद होते हैं।


आइए जानते हैं अंजीर खाने के विशेष स्वास्थ्य लाभ-


  • हृदय रोगों से सुरक्षा: 
जी हां दोस्तों अंजीर में ओमेगा-3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड होने के कारण यह शरीर में एकत्र हानिकारक केलोस्ट्रोल को कम करता है जिससे धमनियों में संकुचन की संभावना खत्म होती है और हम हृदय रोगों से सुरक्षित रहते हैं।

  • कब्ज से छुटकारा दिलाए: 
तीन अंजीर का सुबह-शाम नियमित सेवन आपको कब्ज से पूरी तरह से छुटकारा दिलाता है।इस नुस्खे को करने के लिए आप तीन अंजीर को एक गिलास पानी में भिगोकर रात भर के लिए रख दीजिए। सुबह उठकर ब्रश करने के बाद सबसे पहले तीनों अंजीर को चबा चबा कर खा कर ऊपर से अंजीर का पानी पी लीजिए। ऐसा करने से सप्ताह भर में आपकी कब्ज की समस्या जड़ सहित समाप्त हो जाएगी।

  • एनीमिया अर्थात खून की कमी में फायदेमंद: 
जी हां दोस्तों अंजीर का प्रयोग खून की कमी को दूर करने में भी किया जाता है। तीन अंजीर का दूध के साथ सुबह-शाम सेवन करने से खून की कमी अर्थात एनीमिया से बहुत जल्द छुटकारा मिल जाता है। इस प्रयोग को करने से कई अन्य लाभ भी होते हैं जैसे थकान, सिर दर्द और चक्कर आना आदि रोगों से आसानी से पीछा छूट जाता है।

  • टाइफाइड में फायदेमंद: 
जिन रोगियों को टाइफाइड का बुखार आसानी से नहीं छोड़ता और वह अंग्रेजी दवाएं भी खाना नहीं चाहते उनके लिए अंजीर किसी रामबाण से कम नहीं है। टाइफाइड रोग में तीन अंजीर, 5 से 10 ग्राम खूब कला अर्थात खाकसीर, 8-10 काले मुनक्के को आधा लीटर पानी में मिलाकर काढ़ा बना लेना चाहिए। जब पानी सूख कर आधा गिलास रह जाए तो उसे ठंडा करके रोगी को पिलाएं। ऐसा करने से टाइफाइड मात्र 3 दिन में ही समाप्त हो जाता है। परंतु यह प्रयोग कम से कम 1 सप्ताह तक अवश्य करना चाहिए जिससे टाइफाइड बुखार पुनः वापस लौटने की कोई संभावना न रह जाए।

  • हड्डियों को मजबूत बनाए:
जी हां दोस्तों अंजीर में कैल्शियम की भी बहुत प्रचुर मात्रा पाई जाती है। अंजीर में कैल्शियम की अच्छी मात्रा होने से बच्चों में या हड्डियों का विकास तो करती ही है साथ ही साथ यह हमें कई हड्डियों की बीमारियों जैसे ऑस्टियोपोरोसिस आदि से भी बचाती है।

दोस्तों इसके अलावा अंजीर का सेवन करने के ढेरों फायदे हैं, यह एक चमत्कारी फल और मेवा दोनों ही है। इसलिए आप भी सुबह शाम अंजीर का सेवन अवश्य करें और इसका लाभ लें। धन्यवाद आपका दिन मंगलमय हो।




Disclaimer: इस लेख में दी गयी समस्त जानकारी केवल सूचना के उद्देश्य से है , हम किसी भी तथ्य के पूर्णतः सत्य या मिथ्या होने का दावा नहीं करते दी गयी जानकारी का स्त्रोत विभिन्न पुस्तकेंस्वास्थ्य-सलाहकार व कुछ व्यक्तियों के अनुभव हैं, दर्शक कृपया स्व-विवेक से काम लें , धन्यवाद

Tags: Anjir khane ke fayde, anjeer khane se kya hota hai, heaths benefits of figs, Figs for constipation, Best home remedy for piles and constipation.

Post a Comment

नया पेज पुराने