300 बीमारियों का काल है सहजन (Moringa)। डायबिटीज, अस्थमा, ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों को जड़ से खत्म कर देती है। फायदे गिनते रह जाओगे।


www.aushadhiauryog.com

सहजन (Moringa) का परिचय :


सहजन का वानस्पतिक नाम Moringa Oleifera है। आयुर्वेद आधुनिक चिकित्सा विज्ञान के अनुसार यह एक बहु उपयोगी वृक्ष है। इसका तना बेहद ही नरम होता है जो जरा सा भार पड़ने पर आसानी से टूट जाता है। इसकी लकड़ी खोखली होती है।

सहजन का तना जड़ पतिया फल तथा फूल किसी न किसी रूप में अवश्य प्रयोग में लाए जाते हैं इस संपूर्ण वृक्ष में ही औषधीय गुण छुपे हुए हैं।

दोस्तों इस पेड़ की ऊंचाई लगभग 10 मीटर से अधिक होती है किंतु सुविधा के लिए प्रतिवर्ष इसे एक या 2 मीटर की ऊंचाई से काट दिया जाता है, ताकि इसके फलों और फूलों को आसानी से तोड़ा जा सके।
आइए आप जानते हैं सहजन की प्रति 100 ग्राम कलियों से हमें कितना पोषण मिलता है...

सहजन के पोषक तत्व :

  • कार्बोहाइड्रेट = 8.53 ग्राम,
  • फाइबर = 3.2 ग्राम,
  • वसा = 0.20 ग्राम,
  • प्रोटीन = 2.10 ग्राम,
  • जल = 88.20 ग्राम,

दोस्तों आइए आप जानते हैं सहजन खाने के क्या-क्या लाभ हैं...


  1. दोस्तों यदि सहजन के सूप का नियमित सेवन किया जाए तो चाहे महिला हो या पुरुष दोनों की सेक्सुअल हेल्थ में प्रभावशाली सुधार आता है।
  2. सहजन का सूप पाचन तंत्र के लिए रामबाण साबित होता है। इसमें प्रचुर मात्रा में डाइटरी फाइबर मौजूद होता है इसलिए यदि आप इसका सेवन करते हैं तो कब्ज जैसी परेशानी आपको छू भी नहीं सकती।
  3. सहजन में आयरन की प्रचुर मात्रा पाई जाती है इसलिए सहजन का प्रयोग करने से एनीमिया जैसी बीमारियों का इलाज सहज ही हो जाता है।
  4. सहजन में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो कई तरह के संक्रामक रोगों से हमारे शरीर की रक्षा करते हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिंस और मिनरल्स हमारे शरीर की इम्युनिटी को बूस्ट करते हैं।
  5. अस्थमा के मरीजों को डॉक्टर अक्सर सहजन का सूप पीने की सलाह देते हैं। सर्दी खांसी जुकाम सांस फूलना जैसी परेशानियों से सहजन पलक झपकते ही छुटकारा  दिलाता है।
  6. सहजन एक प्राकृतिक ब्लड प्यूरीफायर की तरह भी काम करता है अतः इसके सेवन से चेहरे के दाग धब्बे झाइयां व कील मुहांसों से छुटकारा तो मिलता ही है साथ में यह चेहरे की चमक को बढ़ाकर चेहरे पर नया निखार लाता है।
  7. डॉक्टर अक्सर डायबिटीज के रोगियों को शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए सहजन को भोजन में शामिल करने की सलाह देते हैं। यह रक्त में बढ़ी हुई शर्करा को नाटकीय रूप से सामान्य स्तर पर ले आता है।

इसके अलावा सहजन के और भी ज्ञात-अज्ञात बहुत से फायदे हैं। अगर आप भी भोजन में सहजन का प्रयोग करते हैं या इस पोस्ट को देखकर इसका सेवन न शुरू करने वाले हैं तो कृपया कमेंट करके हमें जरूर बताएं और साथ ही साथ इस पोस्ट को व्हाट्सएप, फेसबुक  और ट्विटर पर शेयर  करना बिल्कुल ना भूलें। आपका एक शेयर हमें उत्साह से भर देता है। 

                          

Disclaimer: किसी भी औषधि का सेवन किसी डॉक्टर या एक्सपर्ट से सलाह लेने के बाद ही करें। साथ ही अपनी मेडिकल स्थिति के बारे में डॉक्टर को सही व पूरी जानकारी दें | किसी भी औषधि  का आवश्यकता से अधिक मात्रा में सेवन करना हानिकारक साबित हो सकता है |


Tags: Aushadhi aur Yog, moringa benefits, moringa benefits in hindi, moringa powder, moringa leaves recipe, moringa soup, moringa juice, moringa leaves for hair growth, drum stick benefits, drum stick benefits in hindi, drum stick powder, drum stick juice, drum stick curry, drum stick pickle, drum stick for hair growth, sahjan ke fayde, sahjan ki kheti, sahjan ka fhool, सहजन का फूल , सहजन की खेती, सहजन के फायदे, सहजन का आचार, सहजन के सब्जी कैसे बनाये ,

Post a Comment

नया पेज पुराने